‘चंडीगढ़ मेयर चुनाव में वोट टैम्परिंग का वीडियो…’ अरविंद केजरीवाल ने लगाया बेईमानी का आरोप – Chandigarh Mayor Election Arvind Kejriwal Shares Video Claims Election Tampering NTC


चंडीगढ़ मेयर चुनाव में बहुमत से कम वोट होते हुए भी बीजेपी ने जीत हासिल कर ली. इसको लेकर चौतरफा आरोप-प्रत्यारोप चल रहा है. एक तरफ आम आदमी पार्टी तो दूसरी तरफ कांग्रेस बीजेपी पर धांधली करके चुनाव जीतने का आरोप लगा रही है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रिजाइडिंग ऑफिस का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह हस्ताक्षर कर वोटों को अप्रूव कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “आज मेयर के चुनाव में तो ये लोग रंगे हाथों पकड़े गए, ये वीडियो सामने आ गया. अभी तक देश में ना जाने कितने चुनावों में इन्होंने इस किस्म के फर्ज़ीवाड़े किए होंगे, ना जाने कितने चुनाव इस तरह बेईमानी से जीते होंगे?” सीएम ने साथ ही बताया कि यह वीडियो मेयर चुनाव में वोट टैम्परिंग का है. आजतक इस तरह के किसी भी दावे की पुष्टि नहीं करता.

ये भी पढ़ें: ‘बीजेपी ने वोटों की चोरी की…’ चंडीगढ़ मेयर चुनाव में हार के बाद बोले केजरीवाल

2024 लोकतंत्र बचाने का आखिरी साल – खड़गे

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी बीजेपी पर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ मेयर चुनाव में बीजेपी के इशारे पर चुनावी मशीनरी का बेधड़क दुरुपयोग स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव में लोगों के विश्वास को और कम करेगा. अध्यक्ष खड़ने कहा, “जैसा कि मैंने कल कहा, 2024 हमारे लिए लोकतंत्र को बचाने का आखिरी मौका है. अगर हम इसे बीजेपी से बचाने के लिए एक साथ नहीं आते हैं, तो हमारी आने वाली पीढ़ियां पछताएंगी.”

अखिलेश यादव ने भी शेयर किया “धांधली” का वीडियो

समाजवादी पार्टी की चीफ अखिलेश यादव ने भी एक वीडियो सोशल मीडिया साइट एक्स पर साझा किया है. उन्होंने कहा, “ये है भाजपाई भ्रष्टाचार का सरेआम सबूत, जिसमें चंडीगढ़ मेयर चुनाव में बिना बहुमत के भाजपा के उम्मीदवार को जिताने के लिए भाजपाई पीठासीन अधिकारी मतपत्रों को अवैध बनाने के लिए पेन चलाकर उन्हें अवैध बना रहा है. चुनाव आयोग और न्यायालय को स्वत: संज्ञान लेकर दंडात्मक कार्रवाई करने के लिए और क्या सबूत चाहिए?”

अरविंद केजरीवाल ने संख्याबल पर क्या कहा?

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मेयर चुनाव पर एक बयान भी जारी किया है और खासतौर पर उन्होंने संख्या बल पर जोर दिया. सीएम ने बताया कि नगर पालिका में कुल 36 काउंसलर की सीटें हैं. पिछले चुनाव में 13 आम आदमी पार्टी, 7 कांग्रेस, 15 भाजपा और एक अकाली दल ने जीता था. अकाली दल का काउंसलर भाजपा के साथ है. इस तरह भाजपा के पास कुल 16 काउंसलर हैं.

ये भी पढ़ें: सिद्धू के लिए आयोजित की थी रैली, पंजाब कांग्रेस ने दो नेताओं को पार्टी से किया निलंबित

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अलग-अलग चुनाव लड़ते थे. इसलिए पिछले दो साल से भाजपा का ही मेयर और डिप्टी मेयर बनता थी. इस बार इंडिया गठबंधन के तहत कांग्रेस और आम आदमी पार्टी साथ आ गई. इस तरह इंडिया गठबंधन के 20 और भाजपा के 16 काउंसलर थे. चुनाव बिल्कुल सीधा था. इसमें कोई गणित नहीं थी.

हाई कोर्ट पहुंचा इंडिया गठबंधन

बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस और आप नेताओं द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया है. चंडीगढ़ बीजेपी प्रमुख जीतेंद्र पाल मल्होत्रा ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, ‘वोट आप और कांग्रेस के पार्षदों ने ही खराब किए हैं क्योंकि वे अपनी पार्टी के नेतृत्व से खुश नहीं हैं. हमारे पास 16 वोट थे जो हमें मिले.’ इस बीच, इंडिया गठबंधन ने चुनाव को अवैध घोषित कराने और वोटों की चोरी के लिए पीठासीन अधिकारी पर मामला दर्ज करने के लिए पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इस मामले पर कोर्ट में सुनवाई बुधवार को होगी.



Leave a Comment