जीतनराम मांझी का प्रेशर पॉलिटिक्स! बोले- ‘एक और मंत्री पद नहीं मिला तो ये अन्याय होगा’ – Manjhi started pressure politics said it will be injustice if one more ministerial post is not given in Bihar lclk


नीतीश कुमार के एक बार फिर पाला बदलकर एनडीए में शामिल होने के बाद बिहार में अब जल्द ही नई सरकार का कैबिनेट विस्तार हो सकता है. इस कैबिनेट विस्तार से पहले हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने प्रेशर पॉलिटिक्स शुरू कर दिया है.

बिहार में नई एनडीए सरकार के कैबिनेट विस्तार की चर्चा के बीच पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने मांग की है कि  HAM को मंत्रिमंडल में कम से कम एक मंत्री पद और मिलना चाहिए.

उन्होंने कहा कि निर्दलीय को मंत्रिमंडल में मनचाहा विभाग मिल रहा है, हम पार्टी से अनिल कुमार सिंह को मंत्री बनाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, मैंने अमित शाह, नीतीश कुमार और नित्यानंद राय सहित अन्य नेताओं से बात की है.

जीतन राम मांझी ने कहा कि, मुझे महागठबंधन की तरफ से सीएम पद का ऑफर मिला था लेकिन मैने उसे ठुकरा दिया.  HAM को 2 मंत्री पद नहीं मिला तो यह अन्याय होगा. जीतन राम मांझी ने कहा कि कोई उन्हें पैसे और पद से नहीं तौला सकता है, इसीलिए मैं एनडीए के साथ हूं.

जीतन राम मांझी के बेटे संतोष बने हैं नीतीश सरकार में मंत्री

बता दें कि 28 जनवरी को बिहार में एनडीए सरकार बनने के बाद नीतीश कुमार ने 9वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इस दौरान हम पार्टी के नेता और जीतन राम मांझी के बेटे संतोष कुमार सुमन को फिर से मंत्री बनाया गया है. संतोष सुमन इससे पहले भी बिहार सरकार में अनुसूचित जाति जनजाति विभाग का मंत्री बनाया गया था.

Leave a Comment