पीएम ने इंडियन नेवी और वैज्ञानिकों को सराहा, बोले- दुनिया में प्रमुख शक्ति बनकर उभर रहा भारत – pm modi attended conference of police dgp and igp jaipur praise aditya l1 indian navy ntc


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जयपुर में पुलिस महानिदेशकों और पुलिस महानिरीक्षकों के 58वें सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने भारत के पहले सौर मिशन आदित्य एल1 की सफलता को लेकर जहां एक तरफ वैज्ञानिकों को सराहा तो वहीं दूसरी ओर उन्होंने भारतीय नौसेना को भी बधाई देते हुए उनकी वीरता और साहसिक उपलब्धि की सराहना की. 

आदित्य-एल-1 और भारतीय नौसेना की सराहना की
भारत के पहले सौर मिशन-आदित्य-एल1 की सफलता और भारतीय नौसेना द्वारा उत्तरी अरब सागर में हाईजैक जहाज से 21 चालक दल के सदस्यों को तेजी से बचाने पर प्रकाश डालते हुए, प्रधान मंत्री ने कहा कि ऐसी उपलब्धियां दिखाती हैं कि भारत इस दुनिया में एक प्रमुख शक्ति के रूप में उभर रहा है. उन्होंने कहा कि आदित्य-एल1 मिशन की सफलता चंद्रयान-3 मिशन के समान है. उन्होंने कहा कि यह भारत की शक्ति और भारतीय वैज्ञानिकों की शक्ति का प्रमाण है. उन्होंने भारतीय नौसेना के सफल ऑपरेशन पर भी गर्व जताया. 

नौसेना ने वीरता से पूरा किया ऑपरेशन
पीएम मोदी ने कहा- दो दिन पहले भारतीय नौसेना ने इस ऑपरेशन वीरता से पूरा किया. उन्होंने कहा कि जवानों को संदेश मिला- मालवाहक पोत खतरे में है तो भारतीय नौसेना के कमांडो सक्रिय हो गए. पोत में 21 नाविक थे, जिनमें 15 भारतीय थे.  मार्कोस कमांडो ने  सभी नाविकों को बचा लिया. बचाए जाने के बाद भारतीय नाविक कमांडो की बहादुरी की सराहना कर रहे थे और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहे थे. 

नए आपराधिक कानूनों पर भी बोले पीएम मोदी
सम्मेलन में पीएम मोदी ने नए आपराधिक कानूनों को लेकर भी बड़ी बात कही. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि तीनों नए आपराधिक न्याय कानूनों को ‘नागरिक प्रथम, गरिमा प्रथम, न्याय प्रथम’ की भावना से बनाया गया है और पुलिस को अब डंडे के बजाय डाटा के साथ काम करना होगा. यहां पुलिस महानिदेशकों (डीजीपी) और पुलिस महानिरीक्षकों (आईजीपी) के 58वें सम्मेलन को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी ने पुलिस से महिलाओं की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे “कभी भी और कहीं भी” निडर होकर काम कर सकें.”  प्रधान मंत्री ने कहा कि ये नए कानून भारत की आपराधिक न्याय प्रणाली में एक आदर्श बदलाव थे. 

‘खुद को आधुनिक और विश्वस्तरीय फोर्स में बदलें’
उन्होंने कहा कि महिलाओं और लड़कियों को उनके अधिकारों और नए कानूनों के तहत उन्हें प्रदान की गई सुरक्षा के बारे में जागरूक करने पर विशेष ध्यान दिया गया है. मोदी ने कहा कि भारतीय पुलिस को भारत की आजादी की शताब्दी वर्ष 2047 तक विकसित भारत के सपने को साकार करने के लिए खुद को एक आधुनिक और विश्व स्तरीय बल में बदलना चाहिए. पीएम मोदी ने नागरिकों में पुलिस की सकारात्मक छवि को मजबूत करने की आवश्यकता को रेखांकित किया. उन्होंने नागरिकों के लाभ के लिए सकारात्मक जानकारी और संदेश प्रसारित करने के लिए पुलिस स्टेशन स्तर पर सोशल मीडिया के उपयोग की सलाह दी.

गृहमंत्री शाह और डोभाल भी हुए शामिल
रविवार को संपन्न हुए तीन दिवसीय सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने विशिष्ट सेवाओं के लिए पुलिस पदक भी वितरित किये गए. सम्मेलन में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और देश के शीर्ष पुलिस अधिकारी भी शामिल हुए. पिछले वर्षों की तरह, सम्मेलन हाइब्रिड मोड में आयोजित किया गया था जिसमें देश भर के विभिन्न स्थानों से विभिन्न रैंकों के 500 से अधिक पुलिस अधिकारी शामिल हुए थे.

Leave a Comment