‘हम दिल का रिश्ता बनाते हैं, मेरे अनुभव से सीखो..’ कांग्रेस छोड़ BJP में शामिल हुए नेताओं को सिंधिया की सलाह – We build relationships from the heart Jyotiraditya Scindia advice to leaders who left Congress and joined BJP ntc


केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए नेताओं को खास सलाह देते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं को उनके अनुभव से सीख लेनी चाहिए.  एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिंधिया ने मंच से आंख मारकर इशारा किया और कहा कहा मेरे अनुभव से सीख ले लो. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में रहकर मैंने स्वयं अनुभव किया था कि पार्टी के हालात क्या हैं. सिंधिया ने कहा कि वे दिल का रिश्ता बनाते हैं और अगर आपको अवसरों के आधार पर रिश्ता बनाना है तो दिग्विजय सिंह के पास जाओ.

मैं 2020 से कर रहा था खोज- सिंधिया

सिंधिया ने कहा, ‘मैं तो 2020 से ही कोशिश में लगा था. आप देख लोग कि मेरी ये तीन- साढ़े तीन साल की मेहनत है. मैं बोलते रहा, विश्वास मत रखना, विश्वास इधर (अपने दिल) में रखना. सुना नहीं. मैं इसलिए कह रहा हूं  क्योंकि मैंने खुद अनुभव किया था. कभी-कभी दूसरों के अनुभव से भी सीख लेना चाहिए. देर आए, पर दुरुस्त आए. मैं सच बता रहा हूं कि मैं खोज में था. मैं इसलिए खोज में था क्योंकि हम लोगों को भी अच्छे लोगों की जरूरत है… मेरा दिल का रिश्ता बनता है. अगर अवसरों के आधार पर रिश्ता बनना है तो पड़ोस में जाओ..’

कांग्रेस का सिंधिया पर हमला

आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया इन दिनों गुना लोकसभा सीट के दौरे पर हैं. इस दौरान बमोरी विधानसभा क्षेत्र के उमरी में आयोजित आदिवासी सम्मेलन में ज्योतिरादित्य सिंधिया पहुंचे थे. कार्यक्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया आदिवासियों के पारंपरिक ढोल को बजाते हुए नाचते दिखाई दिए. सिंधिया की ये तस्वीर वायरल होते ही कांग्रेस पार्टी ने सिंधिया का घेराव कर लिया. कांग्रेस ने सिंधिया को गद्दार भी कहा.

इस मामले में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, कांग्रेस के पास कोई काम नहीं बचा है. केवल कटाक्ष करना ही उनका काम है. देश की जनता ने कांग्रेस को नकार दिया है तभी विधानसभा चुनाव में उन्हें बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा. हरदा में हुए हादसे का सभी को दुख है.

 

Leave a Comment