‘हर तरफ से पत्थर बरस रहे थे, घर में छिपकर बचाई जान’, महिला पुलिसकर्मी ने बताई हल्द्वानी हिंसा की आपबीती – uttarakhand haldwani riots latest news injured police woman shares her story ntc


उत्तराखंड के हल्द्वानी में गुरुवार को अवैध मस्जिद और मदरसा तोड़ने को लेकर बवाल हो गया. इस दौरान बुलडोजर कार्रवाई से गुस्साए लोगों ने पुलिस-प्रशासन पर पथराव कर दिया और कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया. इसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. इनमें कई महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं, जिन्हें गंभीर चोटें आई हैं. इलाज के लिए अस्पताल पहुंचीं महिला पुलिसकर्मियों ने घटना को लेकर आपबीती बयां की.

एक महिला पुलिसकर्मी ने आजतक से बातचीत में बताया, “हम लोग बहुत ज्यादा बहुत बच कर आए हैं. पथराव होने पर एक घर में हम लोग घुस गए. 15-20 लोग हम अंदर घुसे हुए थें. उसके बाद बाहर से लोगों ने आग लगाने की कोशिश की और पथराव किया. हम बड़ी मुश्किल से छिपकर जान बचाकर आए हैं. इसके बाद मौके पर फोर्स आई. हर गली, छतों से पथराव हो रहा था. हम लोगों ने एक घर में घुसकर फोर्स को लोकेशन दी. तब फोर्स आई. जिस घर में हम थे और जिस व्यक्ति ने हमारी जान बचाई उसके घर दरवाजे तोड़ दिए गए, शीशे तोड़ दिए गए.”

शहर में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

शहर में स्थिति को देखते हुए जिलाधिकारी ने शहर में फर्फ्यू लगा दिया है. कर्फ्यू गुरुवार रात 9 बजे से लागू होकर अगले आदेश तक जारी रहेगा. वहीं शहर में सभी स्कूलों को भी बंद रखने का फैसला किया गया है. इसको लेकर सभी स्कूलों को आदेश जारी कर दिए गए हैं.

उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश

राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुलिस-प्रशासन को सख्त एक्शन लेने का आदेश दिया है. उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश जारी किए गए हैं. साथ ही लोगों से शांति बनाए रखने की अपील भी की गई है. 

हलद्वानी में बुलडोजर एक्शन के बाद पथराव और आगजनी

अराजक तत्वों को चिन्हित किया जा रहा: नगर आयुक्त

नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने बताया कि मदरसा और नमाज वाली जगह पूरी तरह अवैध है. इसके पास तीन एकड़ जमीन पर नगर निगम ने पूर्व में कब्जा ले लिया था. अवैध मदरसे और नमाज स्थल को सील कर दिया था. अब इसे ध्वस्त कर दिया गया है. कार्रवाई के दौरान पथराव करने वाले अराजक तत्वों को चिन्हित किया जा रहा है. उनकी गिरफ्तारी की जा रही है.

ऐसे शुरू हुआ हंगामा

जानकारी के लिए बता दें भारी पुलिस बल के साथ नगर निगम की टीम गुरुवार दिन में मलिक के बगीचे पहुंची. यहां अवैध मदरसे और नमाज स्थल को जेसीबी से तोड़ने का काम शुरू ही हुआ था कि मुस्लिम महिलाओं और युवकों ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. देखते ही देखते अराजक तत्वों ने पुलिस, प्रशासन और नगर निगम की टीम पर भारी पथराव शुरू कर दिया. 

इस पथराव में एसडीएम सहित कई पुलिसकर्मी और निगम कर्मचारी घायल हो गए. इतना ही नहीं जेसीबी को निशाना बनाकर किए गए पथराव में इसका शीशा टूट गया. भारी विरोध के बावजूद नगर निगम का अभियान जारी रहा. नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय, सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, एसडीएम परितोष वर्मा समेत नगर निगम की टीम ने लोगों को काफी समझाने की कोशिश की. लेकिन अराजक तत्वों ने पथराव करते हुए इलाके को घेर लिया और फिर थाने को भी घेरते हुए वाहनों में आग लगा दी.

Leave a Comment