Amazon ने प्लेटफॉर्म से हटाया फेक ‘राम मंदिर प्रसाद’, CCPA ने जारी किया था नोटिस – Amazon delists Fraudulent Ram Mandir Prasad sales from its website ttec


राम मंदिर के नाम पर कुछ लोग आम जनता से फ्रॉड करने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे ही कुछ फ्रॉड्स के बारे में हमने इस हफ्ते की शुरुआत में बताया था. इसमें Amazon पर राम मंदिर प्रसाद के नाम पर मिठाइयां बेचे जाने की जानकारी भी थी. इसे लेकर सेंट्रल कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी ने Amazon को नोटिस जारी किया था. 

CCPA ने ये नोटिस ‘अयोध्या राम मंदिर प्रसाद’ के नाम से बेची जा रही मिठाइयों के लिए जारी किया था. CCPA ने ये कार्रवाई CAIT की एक शिकायत के आधार पर की थी. ऐमेजॉन ने राम मंदिर प्रसाद की लिस्ट को अपने प्लेटफॉर्म से रिमूव कर दिया है. साथ ही सेलर के खिलाफ कार्रवाई की शुरुआत कर दी गई है.

राम मंदिर प्रसाद के नाम पर बेची जा रही मिठाई

सेंट्रल कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी ने राम मंदिर प्रसाद के नाम पर बेची जा रही मिठाई को लेकर नोटिस जारी किया था. इसके लिए CCPA ने ऐमेजॉन से 7 दिनों में जवाब मांगा था. CCPA ने कहा था कि अगर जरूरी कदम नहीं उठाए गए तो कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत प्लेटफॉर्म के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- अयोध्या में जलाया गया दुनिया का सबसे बड़ा दीया, 21 हजार लीटर तेल और 125 KG रूई का हो रहा इस्तेेमाल

बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम 22 जनवरी को होना है. CCPA के नोटिस के जवाब में ऐमेजॉन ने कहा था, ‘हमें CCPA की ओर से हमारे प्लेटफॉर्म पर कुछ सेलर द्वारा अपने प्रोडक्ट्स को लेकर भ्रामक दावे किए जाने की शिकायत मिली है.’ उन्होंने कहा कि हम अपनी पॉलिसी के मुताबिक ऐसे किसी भी फेक लिस्टिंग के खिलाफ उचित कार्रवाई कर रहे हैं. 

क्या है रामसेतु पर विवाद? जानिए इसका इतिहास

कई तरह का स्कैम चल रहा है

राम मंदिर के नाम पर कई तरह के स्कैम देखने को मिल रहे हैं. स्कैमर्स राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के VIP एक्सेस का मैसेज भेजकर लोगों को अपने जाल में फंसा रहे हैं. इसके लिए स्कैमर्स APK फाइल को वॉट्सऐप मैसेज के रूप में भेज रहे हैं. ऐसी फाइल को डाउनलोड करने की वजह से आपका फोन हैक हो सकता है. 

ये भी पढ़ें- ‘राम मंदिर प्रसाद’ पर Amazon को कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी का नोटिस, कंपनी ने दिया ये जवाब

इसके अलावा कई यूजर्स को QR कोड भेजे जा रहे हैं. ये QR कोड्स राम जन्मभूमि ट्रस्ट के नाम पर भेजे जा रहे हैं. यूजर्स को इस QR कोड पर स्कैन करके मंदिर के नाम पर दान करने के लिए कहा जा रहा है. इस मामले में अथॉरिटीज ने साफ किया है कि उन्होंने इस तरह की किसी डोनेशन योजना की शुरुआत नहीं की है. ये स्कैमर्स की चाल है.

Leave a Comment