Ian Chappell, IND vs ENG Series: भारतीय टीम या इंग्लैंड… कौन जीतेगा टेस्ट सीरीज? इस ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज का बयान वायरल – Ian Chappell says ahead of Rajkot Test India have real battle on their hands tspo


 Ian Chappell on IND vs ENG Test Series: भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज इस समय 1-1 से बराबरी पर है. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने इस सीरीज के बाकी बचे मैचों पर बड़ा बयान दिया है. उन्हें लगता है कि बेन स्टोक्स की कप्तानी वाली इंग्लैंड की टीम बची हुई टेस्ट सीरीज में भारत को कड़ी टक्कर देगी, लेकिन उन्होंने मेजबान टीम जीतने का समर्थन किया. मौजूदा सीरीज का तीसरा टेस्ट 15 फरवरी से राजकोट में शुरू होगा.

‘यह मुश्किल सीरीज भारतीय टीम के खाते में जाएगी’   

80 साल के चैपल ने ‘ईएसपीएन क्रिकइन्फो’ के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘घरेलू टीम होने के नाते भारत को आखिर में इस मुश्किल सीरीज को जीतना चाहिए, लेकिन उन्हें बचे हुए मुकाबलों में कड़ी चुनौती मिलेगी.’ उन्होंने लिखा, ‘स्टोक्स के आक्रामक नेतृत्व वाली इंग्लैंड की टीम जो रूट की कप्तानी वाली टीम से बेहतर है जो पिछले दौरे पर स्पिन के आगे पस्त हो गई थी.’

भारत के 2021 में पिछले दौरे पर इंग्लैंड की टीम रूट की अगुआई में पहला टेस्ट जीतने के बाद सीरीज गंवा बैठी थी. स्टार बल्लेबाज विराट कोहली सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे और बचे हुए तीन टेस्ट के लिए भारतीय टीम में केएल राहुल और रवींद्र जडेजा की वापसी होगी.

‘कोहली का बची हुई सीरीज में नहीं खेलना एक झटका है’

चैपल ने लिखा, ‘भारत मजबूत टीम है और उनके पास रोहित शर्मा के रूप में एक अच्छा कप्तान है. रवींद्र जडेजा और केएल राहुल के चोट से उबरकर वापसी करने से उनकी टीम मजबूत होगी, लेकिन कोहली का बची हुई सीरीज में नहीं खेलना एक झटका है.’ उन्होंने लिखा, ‘उम्मीद है कि चयनकर्ता अब श्रेयस अय्यर की बल्लेबाजी काबिलियत को ज्यादा महत्व देना बंद कर देंगे और कुलदीप यादव की विकेट झटकने की क्षमता को ज्यादा अहमियत देना सीखेंगे.’

ब्रॉड बोले- इंग्लैंड के पास सीरीज जीतने का बड़ा मौका  

उधर, इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड का मानना है कि विराट कोहली का सीरीज में नहीं होना इस सीरीज और खेल के लिए अच्छा नहीं है. लेकिन उनकी गैर मौजूदगी में इंग्लैंड के पास भारत को हराने का सुनहरा मौका है. विराट निजी कारणों से सीरीज से बाहर है.

ब्रॉड ने कहा, ‘विराट किसी भी स्पर्धा को अपने जनून, आक्रामकता और बेहतरीन खेल से शानदार बना देते हैं. दर्शक उनका खेल देखने को आतुर रहते हैं. लेकिन निजी मसले हमेशा क्रिकेट से जुड़े मसलों से बड़े होते हैं.’
 

Leave a Comment