Kanpur: पांच सगे भाई और दो भतीजों समेत 7 को उम्रकैद, बुजुर्ग पिता के सामने जवान बेटे की पीट-पीटकर की थी हत्या – Life imprisonment to five brothers and two nephews in murder case son beaten to death in front of father Kanpur dehat lclam


उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात की माती जिला जज की कोर्ट ने पांच सगे भाइयों सहित दो भतीजों को आजीवन करावास की सजा सुनाई है. साथ ही उनपर ग्यारह-ग्यारह हजार का अतिरिक्त अर्थदंड भी लगाया है. कोर्ट ने सात साल पहले दर्ज हुए हत्या के मामले में यह सजा सुनाई है. 

हत्या के आरोप में यह पहली और ऐतिहासिक सजा है जिसमें एक ही परिवार के सात लोगों को आजीवन करावास की सजा सुनाई गई है. यह जानकारी जिला शासकीय अधिवक्ता राजू पोरवाल ने दी है. 

जानिए पूरा मामला 

दरअसल, मामला 15 अगस्त 2017 का है जब शिवली कोतवाली क्षेत्र के जुगराजपुर बिठूर गांव के मजरा कल्याणपुर खेत में बने नलकूप में छप्पर के नीचे बैठे 80 वर्षीय रामस्वरूप के बेटे शैलेंद्र की कुल्हाड़ी से काट कर हत्या कर दी गई थी. मामले में बुजुर्ग रामस्वरूप ने गांव के ही पांच सगे भाई रामनारायण उर्फ़ नंबरी, अजमेर सिंह, प्रकाश, रमेश, सुरेश और अजमेर सिंह के दो लड़कों पंकज और नीरज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी. 

रामस्वरूप ने कहा था कि उसकी आंखों के सामने नलकूप के पास चारपाई पर बैठे बेटे शैलेंद्र की लाठी, डंडा, सरिया से पीटकर और कुल्हाड़ी काटकर हत्या की गई थी. इस हत्याकांड का केस शिवली कोतवाली में दर्ज करवाया गया था. जिसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियों का चालान करने के साथ ही उनके खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में पेश की थी. 

इस मुकदमें की सुनवाई मौजूदा समय में जिला सत्र एव न्यायलय जयप्रकाश तिवारी की कोर्ट में चल रही थी. जिला शासकीय अधिवक्ता राजू पोरवाल ने बताया कि मामले में वादी व गवाहों के बयानों, पुलिस की विवेचना व पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुशीलन तथा अभियोजन व बचाव पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद कोर्ट ने सभी सात आरोपितों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इसके साथ ही उन पर 11- 11 हजार रुपये अर्थदंड भी ठोका. सजा सुनाए जाने के बाद सभी आरोपितों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया. 

Leave a Comment